कोरोना: सन फार्मा ने भारत में फेविपिराविर लॉन्च की, जानिए कीमत 

भारत में फेविपिराविर दवा को ‘फ्लूगार्ड’  नाम से लॉन्च किया गया है

Published
किफायती कीमत पर मिलेगी फेविपिराविर दवा
i

भारतीय दवा कंपनी सन फार्मास्युटिकल इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने मंगलवार को भारत में कोविड-19 के हल्के से माइल्ड मरीजों के इलाज के लिए दवा फेविपिराविर (Favipiravir) लॉन्च किया है. इसे 'फ्लूगार्ड' (FluGuard) नाम से लॉन्च किया गया है.

ये दवा 35 रुपये प्रति टैबलेट के हिसाब से उपलब्ध होगी. कंपनी का कहना है कि इस सप्ताह से ही स्टॉक मिलेगा.

फेविपिराविर एक ओरल एंटी-वायरल ड्रग है जिसे भारत में हल्के से मध्यम कोविड-19 के मरीजों के इलाज में इस्तेमाल को मंजूरी मिली है.

“भारत में हर दिन 50,000 से ज्यादा कोविड-19 मामले दर्ज किए जा रहे हैं, ऐसे में हेल्थकेयर प्रोफेशनल के लिए ज्यादा विकल्प दिए जाने की तत्काल जरूरत है. हम ज्यादा से ज्यादा मरीजों को दवा सुलभ कराने के लिए एक किफायती मूल्य पर फ्लूगार्ड लॉन्च कर रहे हैं, जिससे उनके वित्तीय बोझ को कम किया जा सके. ये भारत की महामारी के खिलाफ लड़ाई के समर्थन करने की कोशिश है.”
कीर्ति गनोरकर, सन फार्मा, सीईओ( इंडिया बिजनेस)

सन फार्मा दुनिया की चौथी सबसे बड़ी जेनेरिक और भारत की शीर्ष दवा कंपनी है.

इसके अलावा कई अन्य कंपनियों ने भी भारत में फेविपिरावीर का जेनरिक वर्जन लॉन्च किया है. पिछले हफ्ते, हेटेरो ने फेविविर ब्रांड नाम से 59 रुपये प्रति टैबलेट लॉन्च की घोषणा की.

इससे पहले, सिप्ला ने देश में फेविपिरावीर को ब्रांड नाम सिप्लेंजा के तहत 68 रुपये प्रति टैबलेट लॉन्च करने की घोषणा की.

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स फैबीफ्लू ब्रांड नाम से 75 रुपये प्रति टैबलेट उपलब्ध कराने की घोषणा कर चुका है. पिछले महीने कंपनी ने 103 रुपये प्रति टेबलेट की कीमत के साथ इसे लॉन्च किया था. बाद में कंपनी ने इसकी कीमत 27 फीसद कम करते हुए 75 रुपये प्रति टेबलेट करने की बात कही थी.

(Subscribe to FIT on Telegram)

Stay Up On Your Health

Subscribe To Our Daily Newsletter Now.

Join over 120,000 subscribers!