जानिए डायबिटीज मैनेज करने के कुछ आयुर्वेदिक टिप्स
जानिए डायबिटीज कंट्रोल करने के कुछ आयुर्वेदिक टिप्स.
जानिए डायबिटीज कंट्रोल करने के कुछ आयुर्वेदिक टिप्स.

जानिए डायबिटीज मैनेज करने के कुछ आयुर्वेदिक टिप्स

इस बात की संभावना बहुत अधिक है कि आपके आसपास कोई ना कोई डायबिटीज का शिकार हो. आज की दुनिया में, डायबिटीज इतनी आम बात हो गई है कि लोगों ने इसे एक बीमारी के तौर पर देखना बंद कर दिया है.

डायबिटीज सिर्फ ब्लड शुगर के लेवल को प्रभावित नहीं करता है बल्कि अगर इसे मैनेज नहीं किया जाए तो, इससे मोटापा, किडनी फेल होना और स्ट्रोक हो सकता है.

टाइप 1 डायबिटीज में, बॉडी इंसुलिन प्रोड्यूस नहीं करती. दूसरी ओर, टाइप 2 डायबिटीज में बॉडी इंसुलिन का सही इस्तेमाल नहीं कर पाती है. इसे इंसुलिन रेजिस्टेंस कहा जाता है.

Loading...

आयुर्वेद और डायबिटीज

आयुर्वेद के अनुसार, डायबिटीज जिसे मधुमेह के नाम से भी जाना जाता है, एक बड़ी बीमारी या महा रोग है. ये एक चयापचय विकार (metabolic disorder) है. केवल ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करके इसका इलाज नहीं किया जा सकता है.

डायबिटीज के आयुर्वेदिक उपचार में यह सुनिश्चित करके ब्लड शुगर के लेवल को सही करना शामिल है कि बाद में कोई दिक्कत न आए.

आयुर्वेद में माना गया है कि आहार (डाइट) और विहार (लाइफस्टाइल) को बदलकर डायबिटीज कंट्रोल की जा सकती है. ये परिवर्तन किसी व्यक्ति के बॉडी के कॉन्स्टिट्यूशन या उसकी प्रकृति के अनुसार किए जाते हैं.

डायबिटीज कंट्रोल करने के आयुर्वेदिक उपाय

जानिए डायबिटीज से निपटने के कुछ आयुर्वेदिक तरीके:

कार्बोहाइड्रेट से भरपूर चीजें खाने से बचें

अगर आपको डायबिटीज है, तो कार्बोहाइड्रेट से भरपूर फूड आइटम न खाएं.
अगर आपको डायबिटीज है, तो कार्बोहाइड्रेट से भरपूर फूड आइटम न खाएं.
(फोटो: iStockphoto)

आयुर्वेद कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फूड्स खाने की सलाह देता है. ग्लाइसेमिक इंडेक्स (GI) फूड प्रोडक्ट्स में कार्बोहाइड्रेट की एक रिलेटिव रैंकिंग है कि वे ब्लड शुगल के लेवल को कैसे प्रभावित करते हैं.

फिट से बात करते हुए, जीवा आयुर्वेद के डॉ मुकेश शर्मा कहते हैं:

अगर आप डायबिटीज कंट्रोल करने की कोशिश कर रहे हैं, तो आपको चावल, आलू जैसे कार्बोहाइड्रेट से भरपूर फूड प्रोडक्ट्स से परहेज की सलाह दी जाती है.
डॉ मुकेश शर्मा

मीठी चीजें न खाएं

चीनी की मात्रा तय करना जरूरी है.
चीनी की मात्रा तय करना जरूरी है.
(फोटो:iStock)

डायबिटिक लोगों के लिए ये सबसे पहला नियम है. मिठाई, चॉकलेट, कैंडी, चीनी और बहुत मीठे फलों से परहेज करें. नानास, अंगूर और आम जैसे फलों से खास तौर पर बचा जाना चाहिए. अगर ये चीजें खानी ही हैं, तो बहुत कम खाएं.

अगर आप डायबिटीज के रोगी हैं तो आपको मधुर रस वाली चीजें नहीं खानी चाहिए जैसे कि शक्कर या गुड़. इनके सेवन से आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है.
डॉ मुकेश शर्मा

कसैली चीजें खाएं

आयुर्वेद में डायबिटीज से लड़ने के लिए करेले जैसे फूड प्रोडक्ट खाने की सलाह दी जाती है.
आयुर्वेद में डायबिटीज से लड़ने के लिए करेले जैसे फूड प्रोडक्ट खाने की सलाह दी जाती है.
(फोटोःiStock)

डायबिटीज कंट्रोल करने के लिए, आयुर्वेद में कसैली चीजें खाने की सलाह दी जाती है. करेले जैसी चीजें इंसुलिन और ग्लूकोज के लेवल को बहुत अच्छी तरह से बैलेंस करने में मदद कर सकती हैं.

ऐसे फूड प्रोडक्ट्स खाएं जिनमें कड़वा, कसैला या तीखा स्वाद हो. इनमें जामुन, आंवला, करेला, गिलोय जैसे चीजें शामिल हैं.
डॉ मुकेश शर्मा

डेयरी प्रोडक्ट्स से परहेज

डायबिटीज रोगियों के लिए दूध जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स की सलाह नहीं दी जाती है
डायबिटीज रोगियों के लिए दूध जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स की सलाह नहीं दी जाती है
(फोटो:iStock)

डॉ शर्मा का सुझाव है कि डायबिटीज के रोगियों को दूध और घी जैसे डेयरी प्रोडक्ट्स से बचना चाहिए क्योंकि वे पाचन तंत्र को प्रभावित कर सकते हैं. इससे इंसुलिन का लेवल प्रभावित होता है.

बैठे रहने वाली लाइफस्टाइल छोड़ें

बेसिक एक्सरसाइज और स्ट्रेचिंग से शुरू करें.
बेसिक एक्सरसाइज और स्ट्रेचिंग से शुरू करें.
(फोटो: iStockphoto)

डायबिटीज रोगियों को फिजिकली एक्टिव रहने और हमेशा बैठे रहने वाली लाइफस्टाइल से बचने का टार्गेट रखना चाहिए. टहलना और जॉगिंग जैसे हल्के एरोबिक एक्सरसाइज ब्लड शुगर के लेवल को कंट्रोल करने में मदद करेंगे. डॉ शर्मा कहते हैं:

अगर आप डायबिटीज कंट्रोल करना चाहते हैं, तो खाना अच्छे से चबा कर खाएं, नहीं तो इससे आपका पेट, लिवर और पूरा पाचन प्रभावित हो जाएगा.
डॉ मुकेश शर्मा

एक और बात जो डायबिटीज के रोगियों को ध्यान में रखनी चाहिए, वह है रात में अच्छी नींद लेना. 6 से 8 घंटे की नींद लेना सबसे अच्छा है. समय पर सोना और जागना बहुत जरूरी है.

(Make sure you don't miss fresh news updates from us. Click here to stay updated)

Follow our diabetes section for more stories.

    Loading...