कोरोना वायरस: किसी COVID हॉस्पिटल में कैसे होता है काम?

एम्स पटना के डॉक्टरों ने बताया कैसे बरती जा रही हैं तमाम सावधानियां

Published04 Jul 2020, 10:31 AM IST
सेहतनामा
2 min read

कैमरापर्सन: डॉ क्रांति भावना और डॉ सुदीप कुमार

वीडियो एडिटर: पूर्णेंदू प्रीतम

किसी कोविड हॉस्पिटल में क्या होता है? पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विप्मेंट (PPE) पहने डॉक्टर्स, आईसीयू, आइसोलेशन वॉर्ड और गंभीर रूप से बीमार मरीजों की पहचान. ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) पटना के डॉक्टर्स ने फिट को दिखाया कोविड फैसिलिटी में तब्दील हुए किसी हॉस्पिटल में कैसे हो रहा है काम.

342 डॉक्टरों और 425 नर्सों को 5 टीमों बांटा गया, जो रोस्टर के हिसाब से काम करते हैं.

  1. टीम A: फ्लू क्लीनिक संभालती है
  2. टीम B: संदिग्ध मरीज, जिनकी हालत स्थिर हो, उनका ख्याल रखती है
  3. टीम C: कोरोना पॉजिटिव बीमार मरीजों और कोरोना संदिग्धों की जिम्मेदारी संभालती है
  4. टीम D: लैब से कन्फर्म किए गए कोरोना पॉजिटिव केसों की जिम्मेदारी लेती है
  5. टीम E: डेथ मैनेजमेंट

कोविड फैसिलिटी में काम संभालने से पहले सालों से काम करने वाले हेल्थकेयर प्रोफेशनल को भी ट्रेनिंग की जरूरत होती है. इस ट्रेनिंग में टेस्ट के लिए सैंपल कैसे लेना है, PPE कैसे पहनना या निकालना है और मरीजों का इलाज करते वक्त खुद को कैसे बचाना है.

जब हमारे हॉस्पिटल में कोरोना से पहली मौत हुई, तो स्टाफ में चिंता थी. हमें काउंसिलिंग और आपसी बातचीत के जरिए उनके डर को खत्म करना था. इसके बाद कोरोना पॉजिटिव मरीजों का इलाज करने के लिए उनका कॉन्फिडेंस बढ़ा.
डॉ सीएम सिंह, मेडिकल सुपरिटेंडेंट, एम्स, पटना

कोविड हॉस्पिटल में इस बात का ख्याल रखने की जरूरत होती है कि वहां संक्रमण न फैले. यहां तक कि कोरोना मरीजों और कोविड ड्यूटी करने वाले स्टाफ के लिए अलग-अलग लिफ्ट हैं. अलग-अलग बायोमेडिकल वेस्ट के लिए अलग-अलग कूड़ेदान हैं.

इस स्वास्थ्य संकट के चलते कई अस्थाई अरेंजमेंट करने पड़े हैं. रेडियोलॉजी कॉन्फ्रेंस रूम को कोविड फार्मेसी में बदल दिया गया है. यहां हेल्थकेयर प्रोफेशनल चेंज करते हैं और उन्हें PPE दिया जाता है क्योंकि संसाधन काफी सीमित हैं, इसलिए डेली सप्लाई और कंजंप्शन का रिकॉर्ड रखा जाता है.

(Make sure you don't miss fresh news updates from us. Click here to stay updated)

Stay Up On Your Health

Subscribe To Our Daily Newsletter Now.

Join over 120,000 subscribers!