आंध्र:वैक्सीन लगवाने के बाद बुखार की चपेट में आई महिला ने तोड़ा दम

58 साल की आंगनवाड़ी शिक्षिका की मौत का मामला

Published
आंध्र प्रदेश में कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद एक गांव की एक वॉलंटियर पी. ललिता की भी मौत हो गई थी.
i

आंध्र प्रदेश में कडप्पा जिले के पुलिवेंदुला में कुछ दिन पहले ही कोविड-19 वैक्सीन लगवाने वाली 58 साल की आंगनवाड़ी शिक्षिका की मौत हो गई है. पुलिवेंदुला के अहोबिलापुरम इलाके की निवासी टी. नारायणम्मा का गुरुवार रात निधन हो गया.

उन्हें स्थानीय सरकारी अस्पताल में एक पखवाड़े पहले कोविड-19 वैक्सीन लगाई गई थी. वैक्सीन लगने के बाद दूसरे दिन ही नारायणम्मा को बुखार चढ़ गया था. इसके बाद उन्हें इलाज के लिए एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

डॉक्टरों ने जांच की तो टाइफाइड बुखार का पता चला, जिसके बाद उन्हें कडप्पा के रिम्स अस्पताल में ट्रांसफर कर दिया गया. हालांकि, वो घर लौट आईं, क्योंकि वो रिम्स में बुखार से उबर नहीं पाई थी. नारायणम्मा की गुरुवार रात घर लौटने के एक घंटे के अंदर मौत हो गई. अब उनके परिवार के सदस्यों ने आरोप लगाया है कि उनकी मौत इसलिए हुई है, क्योंकि वैक्सीन फेल रही है.

एक और महिला की हुई थी मौत, परिवार को मिला मुआवजा

आंध्र प्रदेश में कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद एक गांव की एक वॉलंटियर पी. ललिता की भी मौत हो गई थी. सरकार की तरफ से मृतका के परिवार को मुआवजे के तौर पर 50 लाख रुपये दिए गए हैं. आरोप है कि ललिता की मौत कोरोना वायरस वैक्सीन शॉट लेने के बाद आई जटिलताओं से हुई थी.

28 साल की ललिता ने 8 अन्य वॉलंटियर्स के साथ वैक्सीन शॉट लिया था और अन्य सभी को सिरदर्द और बुखार जैसे लक्षण दिखाई दिए, ललिता की हालत ज्यादा ही गंभीर हो गई. हालांकि वो दवा ले रही थीं और घर पर ही रहती थीं, लेकिन जल्द ही उनकी मौत हो गई.

(Subscribe to FIT on Telegram)

Stay Up On Your Health

Subscribe To Our Daily Newsletter Now.

Join over 120,000 subscribers!