रूसी और बालों के झड़ने से परेशान हैं? आजमाएं कुछ आयुर्वेदिक उपाय
बालों के झड़ने और रूसी का आयुर्वेदिक इलाज
बालों के झड़ने और रूसी का आयुर्वेदिक इलाज

रूसी और बालों के झड़ने से परेशान हैं? आजमाएं कुछ आयुर्वेदिक उपाय

रेशमी लहराती जुल्फें हमेशा ध्यान खींचती हैं. लेकिन आज की भागमभाग और तनावपूर्ण लाइफ स्टाइल के साथ, चमकदार बाल रखना और सहेजना कभी पूरा न होने वाले सपने जैसा है. सच तो ये है कि खूबसूरत बालों की हमारी ख्वाहिश अक्सर हताशा और दुख की ओर ले जाती है. बाल खराब होना सामान्य है. सिर्फ लुक्स ही नहीं, बालों की सेहत पर भी बुरा असर पड़ रहा है- जिसके नतीजे में रूसी, बालों का झड़ना और कई दूसरी समस्याएं पैदा हो रही हैं.

Loading...

रूसी और बालों का झड़ना

बालों को ठीक से न धोना भी इसकी वजह हो सकती है.
बालों को ठीक से न धोना भी इसकी वजह हो सकती है.
(फोटो: iStock)

रूसी त्वचा की ऐसी कंडिशन है, जिसका स्कैल्प पर असर पड़ता है और स्किन पर एक परत बन जाती है. इस परत से कोई नुकसान नहीं होता, ये एक फंगस के कारण होती है जो ज्यादातर लोगों के स्कैल्प पर होता है. ये स्थिति सीधे सफाई से जुड़ी हुई नहीं है, लेकिन अनियमित धुलाई से समस्या बढ़ सकती है. रूसी के कारण खुजली होती है, और अगर बहुत ज्यादा खरोंच लग जाए तो इससे संक्रमण हो सकता है.

रोजाना कुछ बाल झड़ना सामान्य है. हर एक बाल की एक जीवन-अवधि होती है. ये एक निश्चित लंबाई तक बढ़ते हैं और फिर झड़ जाते हैं.

लेकिन, अगर आप हर बार जब भी कंघी करते हैं, बालों का गुच्छा टूटता है, तो इस पर ध्यान देना चाहिए.

रूसी और बाल झड़ने की वजह

शानदार बाल पाने के रास्ते में कई रुकावटें हैं. बालों की सेहत मुख्य रूप से सामान्य स्वास्थ्य पर निर्भर करती है. किसी भी बीमारी की मौजूदगी बालों की समस्या का कारण बन सकती है.

बालों की समस्याओं में भागमभाग भरी लाइफ स्टाइल का भी बहुत योगदान है.

बहुत ज्यादा ब्लोअर से बाल सुखाना, स्टाइलिंग, परमिंग, केमिकल वाले रंग लगाना, स्टाइलिंग जेल, स्प्रे या कंडिशनर का इस्तेमाल करना, तेज असर वाले शैंपू का इस्तेमाल करना, चिलचिलाती धूप में रहना और क्लोरीनयुक्त पूल में तैरना रूसी होने और बालों के झड़ने के कुछ प्रमुख कारण हैं.

शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक तनाव, एक्सरसाइज की कमी और बंद घरों में एयरकंडीशंड कमरों में बहुत ज्यादा समय बिताना भी बालों की सेहत पर खराब असर डालता है.

मेयो क्लिनिक के अनुसार, सेबोरहाइक डर्मेटाइटिस रूसी के सबसे आम कारणों में से एक है. ऑयली, खुजलीदार स्कैल्प इस प्रकार की रूसी का एक लक्षण है.

अक्सर बालों की समस्या को गंभीरता से नहीं लिया जाता या नजरअंदाज कर दिया जाता है. मेडिकेटेड शैंपू का इस्तेमाल रूसी के लिए पारंपरिक उपचार है और बालों के झड़ने के लिए डॉक्टर विटामिन का एक कोर्स लिख देते हैं. ज्यादातर मामलों यह सिर्फ एक अस्थायी समाधान है और इससे समस्या हल नहीं होती.

बालों की सेहत और आयुर्वेद

रोजाना एक चम्मच आंवला पाउडर गर्म पानी के साथ लें.
रोजाना एक चम्मच आंवला पाउडर गर्म पानी के साथ लें.
(फोटो: iStockphoto)

आयुर्वेद बालों की सेहत का श्रेय स्वस्थ मेटाबॉलिज्म को देता है. खराब या कमजोर पाचन मेटाबॉलिज्म को धीमा कर देता है, जिसके चलते विषाक्त पदार्थों का निर्माण होता है, जो लगातार बनी रहने वाली स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देता है. इससे बाल बेजान, बेरौनक हो जाते हैं और सिरों पर टूटने लगते हैं- जो बालों के झड़ने का एक प्रमुख कारण.

चमकते बालों के लिए पोषक तत्वों से भरपूर भोजन, नियमित एक्सरसाइज और अच्छी नींद की सलाह दी जाती है. बालों की सेहत पर हार्मोन का भी असर होता है. सबसे अच्छी हार्मोनल हेल्थ एक नियमित लाइफ स्टाइल पर निर्भर करती है.

  1. प्रोसेस्ड, बासी और डीप-फ्राइड चीजें ना खाएं
  2. रिफाइंड शुगर, बैड फैट और कोल्ड ड्रिंक ना लें
  3. केमिकल युक्त आर्टिफीशियल ड्रिंक से परहेज करें
  4. विषाक्त पदार्थों को शरीर से निकालने के लिए दिन भर गर्म पानी पीएं
  5. शरीर को पोषण देने के लिए गर्म हेल्दी ड्रिंक का सेवन करें
  6. ताजी सब्जियां, खासकर हरी पत्तेदार सब्जियां खाएं, जो कैल्शियम, आयरन, और विटामिन सी से भरपूर हैं
  7. ताजे मौसमी फलों का नाश्ता करें
  8. 2 बादाम और 1 अखरोट रात भर पानी में भिगोएं. इसे अगली सुबह खाएं
  9. ½ कप तिल और ½ कप खसखस भून लें. इसे बारीक पीस लें. हर रोज अपने सलाद में डाल कर खाएं
  10. रोजाना एक चम्मच आंवला पाउडर गर्म पानी के साथ लें

बालों की देखभाल के आयुर्वेदिक टिप्स

कैसे रखें बालों का ख्याल?
कैसे रखें बालों का ख्याल?
(फोटो: iStockphoto)

यहां कुछ उपाय बताए गए हैं, जिन्हें आप हफ्ते में एक बार आजमा सकते हैं. नतीजे फौरन नहीं मिलेंगे लेकिन समय के साथ आप खुद फर्क महसूस करेंगे.

  • गर्म नारियल तेल से सिर की मालिश करें. बालों को इकट्ठा करें और इसे 30 मिनट के लिए एक गर्म तौलिया से ढक दें. यह तेल को सोखने में मदद करेगा. किसी अच्छे हर्बल शैम्पू से बाल धोएं.
  • 2 छोटे चम्मच मेथी के दानों को रात भर पानी में भिगोकर रखने के बाद इसे पीस कर लेप बना लें. सिर पर लगाएं और एक घंटे के लिए छोड़ दें. बालों को माइल्ड शैम्पू से धोएं. मेथी बालों के झड़ने को रोक देती है और रूसी को खत्म करती है.
  • अपना हर्बल ऑयल तैयार करें. एक लीटर नारियल तेल में 20-25 पत्ते तुलसी के और 10-15 पत्ते नीम के मिलाएं और इसे 15 दिन तक धूप में रखें. इसे छान कर रख लें. बाल धोने से पहले इस तेल को लगा कर एक घंटे के लिए छोड़ दें.
  • सिर पर नीम की पत्तियों और नींबू के रस का लेप लगाने से रूसी को खत्म करने में मदद मिलती है.
  • सिर पर खट्टा दही, पिसा हुआ मेथी दाना और आंवला पाउडर का पेस्ट लगाएं. 30 मिनट बाद धो लें.

खूबसूरती सेहत का सबसे अच्छा आइना है. दमकती त्वचा और बाल शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक कारकों के संतुलन का पता देते हैं. आयुर्वेद के अनुसार स्वास्थ्य शरीर के अंदर का काम है.

त्वचा और बालों के लिए शरीर पर दवाओं को लगाना तभी फायदेमंद होता है, जब शरीर के सभी सिस्टम में संतुलन और तालमेल हो.

आयुर्वेद बीमारी के कारणों को ठीक करने पर ध्यान देता है. आयुर्वेद पर आधारित तरीके से सौंदर्य की देखभाल अगर सब्र से की जाए तो यह जादू की तरह काम कर सकता है. खूबसूरत और सेहतमंद बालों के लिए इसे जरूर आजमाएं.

(Make sure you don't miss fresh news updates from us. Click here to stay updated)

Follow our alt-remedies section for more stories.

Loading...