सेक्सॉल्वः “मैं गे हूं,किसी लेस्बियन से नकली शादी करना चाहता हूं”

सेक्सॉल्व हरीश अय्यर का साप्ताहिक कॉलम है जहां वो आपके प्यार, सेक्स और रिश्ते के सवालों का जवाब देते है.

Updated
let-us-talk-sex
9 min read
 प्यार, सेक्स और रिश्ते के सवाल-जवाब का साप्ताहिक कॉलम ‘सेक्सॉल्व’
i

सेक्सॉल्व समता के अधिकार के पैरोकार हरीश अय्यर का FIT पर सवाल-जवाब पर आधारित कॉलम है.

अगर आपके मन में सेक्स, सेक्स के तौर-तरीकों या रिलेशनशिप से जुड़े कोई सवाल हैं, और आपको किसी तरह की सलाह की जरूरत है, किसी सवाल का जवाब चाहते हैं या फिर यूं ही चाहते हैं कि कोई आपकी बात सुन ले- तो हरीश अय्यर को लिखें, और वो आपके लिए ‘सेक्सॉल्व’ करने की कोशिश करेंगे. आप sexolve@thequint.com पर मेल करें.

पेश हैं इस हफ्ते के सवाल-जवाबः

मैं गे पुरुष हूं, किसी लेस्बियन से नकली शादी करना चाहता हूं

“मुझे अकेले जिंदगी जीना बहुत मुश्किल लगता है. मैं अकेला हूं और गे हूं.”
“मुझे अकेले जिंदगी जीना बहुत मुश्किल लगता है. मैं अकेला हूं और गे हूं.”
(फोटो: iStock)

सवाल:

डियर रेनबो मैन,

मैं बहुत अकेलापन महसूस कर रहा हूं. बहुत ज्यादा अकेलापन. मुझे अपनी जिंदगी अकेले जीना बहुत मुश्किल लगता है. मैं सिंगल हूं और मैं गे हूं.

मुझे यकीन हो गया है कि मुझे इस जिंदगी में कोई लड़का नहीं मिलेगा. वे सभी सिर्फ सेक्स की तलाश में हैं. मैं सोचता हूं कि मैं कैसे बिना प्यार के सिर्फ सेक्स के लिए अपनी पूरी जिंदगी बिता पाऊंगा. वे भयानक लोग हैं.

इसलिए, मैं किसी महिला से शादी करना चाहता हूं. फिर मैंने सोचा कि लेस्बियन महिला से शादी करना समझदारी होगी. मैंने उनमें से कुछेक को लिखा भी जो मशहूर थीं. मैंने उनसे कहा कि हम एक करार कर सकते हैं, लेकिन वे नाराज हो गईं और मुझे मना कर दिया. मैं बहुत अकेलापन महसूस कर रहा हूं.

क्या आप मुझे गाइड कर सकते हैं कि मुझे शादी के लिए एक सुंदर समलैंगिक कहां मिल सकती है. मुझे लड़कियों के साथ उसके अफेयर को लेकर दिक्कत नहीं हैं, मैं सिर्फ उसे अपना दोस्त बनाना चाहता हूं और अपने पिता की ख्वाहिश को पूरा करना चाहता हूं. मरते समय उनकी ख्वाहिश थी कि मेरा घर बस जाए. क्या आप मेरी मदद कर सकते हैं.

हताश पुरुष

जवाब:

डियर हताश पुरुष

मुझे लिखने के लिए शुक्रिया. मैं समझता हूं कि आप अकेला और बेचारा महसूस कर रहे हैं. कुछ लोग कई पुरुषों के साथ सेक्स संबंध रखने वालों को आजाद पुरुष के तौर पर देखते हैं, जैसा कि मुझे पता है कि बहुत से लोग इसे अनैतिक या रिश्ते के विचार के लिए अस्वीकार्य मानते हैं जैसा उन्होंने अपने दिमाग में बनाया है.

कोई सही तरीका नहीं है. ये जोड़े को तय करना है कि उसे किस तरह का संबंध रखना है. मुझे आपको ये बताना चाहिए कि मैं उन गे पुरुष जोड़ियों के बारे में जानता हूं जो एक कमिटेड रिलेशनशिप में हैं और ऐसे गे पुरुष भी हैं जो आजाद संबंधों में हैं. किसी के बारे में भी भेदभाव का नजरिया नहीं रखना चाहिए.

मैं माफी चाहता हूं लेकिन एक जीवनसाथी की अपनी ख्वाहिशें और कल्पनाएं होंगी और उनकी अपनी आजाद उम्मीदें होंगी. एक लेस्बियन महिला से ये पूछना ‘सभ्य व्यवहार’ नहीं माना जाता है कि क्या वो सुविधा की शादी करने को तैयार है.

ये सोचना भी गलत है कि हर लेस्बियन महिला शादी के लिए गे पुरुष पाने को तरस रही हो ताकि खुद को शादी के दबाव से बचा सके. आप ऐसे सवाल सिर्फ उन फ्रेंड से पूछ सकते हैं, जिनके साथ आपकी गहरी दोस्ती है.

मुझे यकीन है कि आपके पिता की ख्वाहिश ये है कि आप एक अच्छे इंसान बनेंगे. मुझे लगता है कि हर माता-पिता की यही महत्वाकांक्षा होनी चाहिए. आपकी पार्टनर एक पत्नी है, कोई चीज नहीं है जिसे आप उनकी ख्वाहिश को पूरा करने के लिए खरीद सकते हैं. इसलिए शादी के बारे में, वो काम करें जो आप करना चाहते हैं, न कि वो जो आपके पिता चाहते थे.

आप जिस चीज की तलाश कर रहे हैं उसे सुविधा की शादी कहा जाता है. मैं विषम-लैंगिक जोड़ों के बीच तैयार किए गए गुप्त कानूनी करारों के बारे में जानता हूं. हालांकि, इस बारे में बहुत सावधान रहना चाहिए क्योंकि आप ब्लैकमेलिंग का शिकार हो सकते हैं और धोखा भी खा सकते हैं.

मैं अपनी दोस्तों से बात नहीं कर सकता और उन्हें आपसे 'नकलीशादी' के लिए नहीं कह सकता हूं, क्योंकि मुझे नहीं लगता कि लोगों को समझौता की तरह अपनी जिंदगी जीने की जरूरत है. और दूसरी बात, मुझे नहीं लगता कि किसी महिला को समाज की ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए एक साधन के रूप में इस्तेमाल करना समझदारी है.

मैं पुरजोर सलाह दूंगा कि आप एक काउंसलर से मिलें. आपको अपनी जिंदगी जीने के लिए झूठ का सहारा लेने की जरूरत नहीं है.

मुस्कान के साथ

रेनबो मैन,

अंतिम बातः खुद को दिखाने के लिए मनोवैज्ञानिक से अप्वाइंटमेंट लें… जल्दी.

मेरी प्रेमिका मेरी बेटी की उम्र की है

“समस्या ये है कि मैं अभी बिल्कुल अकेला हूं और एक प्रेमिका मिल गई है. वो मुझसे लगभग आधी उम्र की है और बहुत प्यारी है.” 
“समस्या ये है कि मैं अभी बिल्कुल अकेला हूं और एक प्रेमिका मिल गई है. वो मुझसे लगभग आधी उम्र की है और बहुत प्यारी है.” 
(फोटो: iStock)

सवाल:

डियर रेनबो मैन,

मैं 72 साल का पुरुष हूं. मेरी दो बेटियां हैं और दोनों की शादी हो चुकी है. मेरी बीवी और मैं 17 साल पहले अलग हो गए थे. हमने शांति तरीके से तलाक ले लिया था, इसकी वजह बहुत आसान थी- हम दोनों जिंदगी से अलग चीजें चाहते थे.

दोनों बेटियों की कस्टडी मेरे पास है और वे अपनी मर्जी से अपनी मां से बहुत कम या कोई बातचीत नहीं करती हैं. समस्या ये है कि मैं अभी बिल्कुल अकेला हूं और मुझे एक प्रेमिका मिल गई है. वो मुझसे लगभग आधी उम्र की है और बहुत प्यारी है. मेरी बड़ी बेटी को इसके बारे में पता चल गया है कि मैं अपने घर में उसके साथ रह रहा हूं.

उसने मुझसे पूछा कि वो कौन है, और मैंने उससे झूठ नहीं बोला. वो शुरू में खुश थी, लेकिन जब उसे पता चला कि मेरी प्रेमिकी की उम्र उसकी उम्र जितनी है तो वो गुस्सा हो उठी. उसे शक है कि मेरी प्रेमिका मेरे पैसे के लिए मेरे साथ है ना कि सच्चे प्यार के लिए. उसने मुझ पर उसकी उम्र की किसी लड़की के साथ संबंध रखने के लिए विकृत मानसिकता का आरोप लगाया. मैं बुरी तरह से परेशान हूं और समझ में नहीं आ रहा कि उसे कैसे समझाऊं.

मैं अपनी बेटी को प्यार करता हूं, लेकिन मैं अपनी प्रेमिका को छोड़ना नहीं चाहता.

वो मुझे पुलिस को खबर करने और मेरी प्रेमिका को मुझे फांसने के लिए गिरफ्तार कराने की धमकी दे रही है. कृपया मुझे सुझाव दें.

परेशान पिता

जवाब:

डियर परेशान पिता

मुझे लिखने के लिए बहुत-बहुत शुक्रिया.

प्यार जाति, धर्म और उम्र से परे है (जब तक दोनों कानूनी उम्र के हैं). कानूनी रूप से उम्र के अंतर का कोई नियम नहीं है, और मेरी ईमानदार राय में, नैतिक रूप से भी उम्र के बारे में कोई नियम नहीं होना चाहिए.

सिर्फ एक चीज जो मायने रखनी चाहिए वो ये है कि किसी भी तरह के सेक्सुअल संबंध कानूनन सही हों, फैसला लेने वाले बालिग हों.

एक बालिग के रूप में ये आपको तय करना है कि आप अपनी जिंदगी कैसे जीना चाहते हैं. आपकी बेटी आपको सलाह दे सकती है, यहां तक कि उसे आपसे नाराज होने का हक है, लेकिन ये आपकी जिंदगी है. आप तय कर सकते हैं कि आप इसके साथ क्या करें.

आप अपनी जिंदगी और अपने भविष्य के रचयिता हैं. आप किसी ऐसे शख्स के प्रति आकर्षित हो सकते हैं, जो आपसे छोटा है, वास्तव में आपकी बेटी की उम्र की है- फिर से दोहराता हूं, जब तक वो कानूनी उम्र की है.

ये आपको डराना नहीं चाहिए. आपने किसी ऐसे शख्स को निशाना नहीं बनाया है जो आपका ध्यान नहीं चाहता. आप किसी ऐसे शख्स के पीछे नहीं भागे हैं जो आपका ध्यान नहीं चाहता है, आपने बिना-सहमति के सेक्स नहीं किया है तो ये किस तरह से डरावना है?

आपकी बेटी को इस तथ्य को हजम करने में कुछ समय लग सकता है कि आप इतने सालों के बाद प्यार में हैं. उसे आपकी प्रेमिका को स्वीकार करने में, जो उसकी उम्र के आसपास की है, कुछ और दिन, महीने या साल लग सकते हैं. ये भी हो सकता है कि वो समझना या सुलझाना न भी चाहे. उसे ये महसूस करने का हक है कि वो कैसा महसूस करती है, लेकिन इससे ये नहीं बदलना चाहिए कि आप उन लोगों के बारे में कैसा महसूस करें, जिन्हें आप प्यार करते हैं.

मैं कोई ज्योतिषी नहीं हूं. मैं ये अंदाजा नहीं लगा पाऊंगा कि आपकी प्रेमिका आपका फायदा उठा रही है या सच में आपसे प्यार करती है. मैं आपको निश्चित रूप से ये कह सकता हूं कि सच्चा प्यार होता है. और लोग अपार प्यार कर सकते हैं और हर शख्स उम्र या पैसे के बारे में नहीं सोचता है.

मेरा निजी तौर पर मानना है कि हम सभी अपने प्रियजनों से कुछ चाहते हैं, और वे हमसे कुछ चाहते हैं. मुझे यकीन है कि आप दोनों प्रेमी जानते हैं कि आप एक-दूसरे से क्या चाहते हैं. अगर आप नहीं जानते, तो इसबारे में बातचीत करें ताकि चीजें साफ हों. हमें सिर्फ ये सुनिश्चित करने की जरूरत है कि इस तरह की बातचीत प्यार और समझदारी की नजर से हो और शक या शर्म से नहीं.

खुलकर प्यार करें, सच्चा प्यार करें और पूरी तरह से प्यार करें. प्यार करने में संकोच न करें, कई लोगों के लिए सिर्फ यही वजह है कि उनका अस्तित्व है- प्यार करने के लिए, और प्यार पाने के लिए.

आपकी अपनी आजाद जिंदगी है. आपके बच्चों की अपनी आजाद जिंदगी है. आपके बच्चे आपके जिंदगी की क्या व्याख्या करते हैं, इसके लिए आप जिम्मेदार नहीं हैं- जब तक ये सच्चाई, प्यार और चाहत के साथ किया जाता है, तब तक ये ठीक होना चाहिए.

आपकी बेटियां वक्त के साथ समझ जाएंगी. या शायद, वे नहीं समझेंगी. हालांकि, आपको अपने फैसलों का आधार ये नहीं बनाना चाहिए कि वे कैसी प्रतिक्रिया करती हैं, बल्कि ये होना चाहिए कि आप उन लोगों के बारे में कैसा महसूस करते हैं, जिनसे आप प्यार करते हैं.

आपके पास जीने के लिए अपनी जिंदगी है, उनके पास जीने के लिए उनकी जिंदगी है, उनके फैसलों को आपके फैसलों को प्रभावित न करने दें.

हर चीज के लिए शुभकामनाएं.

मुस्कान के साथ,

रेनबो मैन

अंतिम बातः हम किसी भी उम्र में प्यार पा सकते हैं. प्यार की कोई उम्र नहीं है.

एक आदमी के छूने के बाद अच्छा लगा. क्या मैं गे हूं?

अगर रजामंदी से होता है तो पता लगाने में कोई हर्ज नहीं है. 
अगर रजामंदी से होता है तो पता लगाने में कोई हर्ज नहीं है. 
(फोटो: iStock)

सवाल:

डियर रेनबो मैन,

मैं 18 साल का लड़का हूं. क्या होमोसेक्सुअलटी एक-दूसरे के प्राइवेट पार्ट को छूने से आगे बढ़ती है. मैंने कुछ समय पहले भीड़ भरी जगह पर किसी को छुआ था, और उसने मुझे छुआ और मुझे अच्छा लगा.

क्या उसने मुझे ‘गे टच' किया? क्या मैं गे बन रहा हूं? मुझे उम्मीद है कि आपको ये मजाक नहीं लगेगा.

उलझन में लड़का

जवाब:

डियर उलझन वाला लड़का,

मुझे लिखने और अपने सबसे गहरे रहस्यों को मुझसे साझा करने के लिए शुक्रिया. नहीं, मुझे नहीं लगता कि आपकी भावनाएं मजाक हैं. मुझ पर भरोसा करने के लिए शुक्रिया.

जब रजामंदी हो तब पता लगाना हेल्दी है. आप जो कर रहे थे वो आपकी सेक्सुअलटी की तलाश है.आप इस वजह से गे नहीं बन जाते क्योंकि किसी ने आपको छुआ या आपने किसी को छुआ. आप गे या स्ट्रेट नहीं बन जाएंगे, आप बस वैसे ही हैं या नहीं हैं.

आप गे हैं या नहीं, ये ऐसी बात है जो सिर्फ आप ही जानते हैं, कोई और आपको नहीं बता सकता या आपकी सेक्सुअलटी का पता लगा सकता है. ये पूरी तरह निजी मामला है. सेक्सुअलटी के कई रंग हैं. समय के साथ, आप खुद की पुष्टि करना चाहेंगे या नहीं करना चाहेंगे कि आपका सेक्सुअल रुझान क्या है.

आपकी उम्र में, मुझे लगता है कि खुद को अपनी भावनाओं को महसूस करने का मौका देना जरूरी है और समय को तय करने दें कि आप क्या महसूस करते हैं.

आपको छुआ जाना और छूते हुए अच्छा महसूस हो रहा था, लेकिन ये एक अस्थायी भावना है जो आपने की या कुछ ऐसा था जो लंबे समय तक रहता है. क्या आप अन्य पुरुषों के लिए भी ऐसा महसूस करते हैं, या यही एकमात्र पुरुष था. क्या आप महिलाओं के प्रति सेक्सुअल रुझान महसूस करते हैं. ये सभी सवाल हैं जो आपकी खुद की सेक्सुअलटी की खोज में आपके सामने आएंगे.

सवाल करना ठीक है, ये ठीक है कि आप नहीं जानते कि आप किस खांचे में फिट बैठते हैं. ये भी ठीक है अगर आप सेक्सुअलटी के किसी भी खांचे में पहचान नहीं रखते और खुद को सबसे अलग परिभाषित करने का फैसला लें.

ये जरूरी है कि आप अपने आप को महसूस करने दें कि आप क्या महसूस करते हैं और अपनी भावनाओं को बेहतर ढंग से समझने में समय को तय करने दें और उसे शब्दों में बयान करें.

मुझे पता है कि किशोर जीवन कठिन है और ऐसी उलझनों से घिरा होता है. लेकिन ये ऐसा समय भी होता है जब हममें भावनाओं का तूफान आता है जो हमें जीवंत और गतिशील महसूस कराता है. सब ठीक हो जाएगा. मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल की मदद लें. अगर आपको लगता है कि मैं किसी तरह मदद कर सकता हूं, तो दोबारा लिखें.

आनंद में रहें,

रेनबो मैन

अंतिम बातः अस्थायी भावनाओं पर कोई स्थायी फैसला न लें.

(हरीश अय्यर एलजीबीटी कम्युनिटी, महिलाओं, बच्चों और पशुओं के अधिकारों के लिए काम करने वाले समान अधिकार एक्टिविस्ट हैं.)

(Subscribe to FIT on Telegram)

Published: 
Stay Up On Your Health

Subscribe To Our Daily Newsletter Now.

Join over 120,000 subscribers!