फिट वेबकूफ: क्या पीरियड्स के दौरान ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए?
पीरियड्स के दौरान कुछ बातों का ख्याल रखने की सख्त हिदायत दी जाती है.
पीरियड्स के दौरान कुछ बातों का ख्याल रखने की सख्त हिदायत दी जाती है.

फिट वेबकूफ: क्या पीरियड्स के दौरान ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए?

दावा

सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे एक पोस्ट में एक औरत के बहुत बढ़े हुए पेट की तस्वीर है, जिसे उसके यूटरस का ट्यूमर होने का दावा किया जा रहा है. पोस्ट में कहा गया है कि मासिक धर्म यानी पीरियड्स के दौरान कुछ चीजों का ध्यान न रखने के कारण उस महिला के यूटरस में उतना बड़ा ट्यूमर हो गया.

Loading...

इस पोस्ट में पीरियड्स के दौरान कुछ चीजों से परहेज करने की बात कही गई है:

  1. मेंस्ट्रुएशन के दौरान बर्फ वाला पानी, सोडा वॉटर ना पीएं या नारियल ना खाएं.
  2. पीरियड्स के दौरान शैंपू ना करें क्योंकि इस दौरान सिर के पोर खुले होते हैं और इससे सिर दर्द हो सकता है.
  3. मेंस्ट्रुएशन के दौरान खीरा, ककड़ी जैसी चीजें ना खाएं क्योंकि इससे मेंस्ट्रुएल ब्लड यूटरस में ब्लॉक हो सकता है और बांझपन का कारण बन सकता है.
  4. इसके साथ ही शरीर को कठोर चीजों से चोट ना लगने दें खासकर पेट क्योंकि इससे खून की उल्टी हो सकती है और यूटरस चोटिल हो सकता है.

क्या है सच्चाई?

सबसे पहले हमने पोस्ट में शेयर की गई तस्वीर की पड़ताल की. गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च से पता चला कि ये तस्वीर साल 2017 में एक औरत के पेट से पांच स्टोन सिस्ट निकलने की है, जिसे सफलतापूर्वक निकाल दिया गया था.

(स्क्रीनशॉट: द टेलीग्राफ)

इसके बाद पोस्ट में पीरियड्स के दौरान परहेज को लेकर जो बातें लिखी गई हैं, उसके लिए फिट ने जसलोक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में कंसल्टेंट गायनकॉलजिस्ट डॉ शिल्पा अग्रवाल से बात की. डॉ अग्रवाल ने साफ किया कि इन दावों में कोई सच्चाई नहीं है. उन्होंने कहा, 'पोस्ट में किए गए सभी दावे गलत हैं.'

  • ऐसा कुछ भी नहीं है, जो आप पीरियड्स के दौरान नहीं खा सकती हैं.
  • ठंडा पानी, नारियल या खीरा- इनसे कैंसर या ट्यूमर का कोई लिंक नहीं है.
  • जैसे आप रोजाना शैंपू करती हैं, वैसे ही पीरियड्स के दौरान भी कर सकती हैं.
मेंस्ट्रुएशन एक हार्मोनल प्रोसेस है. खाने-पीने की किसी चीज से इतना असर नहीं पड़ेगा. हां, क्रैम्प्स में गर्माहट से राहत मिल सकती है, इसलिए गर्म पानी पीने की सलाह दी जाती है. लेकिन इस पोस्ट में जो दावे किए गए हैं, वो आधारहीन हैं. आप जो रोज खाती हैं, वही खा सकती हैं. 
डॉ शिल्पा अग्रवाल

अब आप समझ गई होंगी कि ये पोस्ट पूरी तरह से गलत है. पीरियड्स के लिए इसमें कही गई बातें सही नहीं हैं.

(Make sure you don't miss fresh news updates from us. Click here to stay updated)

Follow our नारी section for more stories.

Loading...