Common Cold: बच्चों में सर्दी के लक्षण, कैसे करें देखभाल

बच्चों को क्यों ज्यादा होती है सर्दी-जुकाम की समस्या?

Updated
alt-remedies
2 min read
बच्चे ऐसी चीजों को छूते रहते हैं, जिन पर कीटाणु हो सकते हैं.
i

सर्दियों का मौसम केवल बड़े-बूढ़ों के लिए ही नहीं बल्कि छोटे बच्चों और शिशुओं के लिए भी काफी कठिन होता है.

एक बच्चे को पहले साल में लगभग छह से आठ बार आम सर्दी हो सकती है, जो वातावरण में मौजूद कई वायरस के कारण होती है.

ये वायरस या रोगाणु, शिशुओं के नाक, गले और साइनस को संक्रमित कर सकते हैं.

बच्चों को क्यों ज्यादा होती है सर्दी-जुकाम की समस्या?

बच्चे ऐसी चीजों को छूते रहते हैं, जिन पर कीटाणु हो सकते हैं. इसलिए, अगर किसी भी चीज पर कीटाणु हैं और अगर कोई बच्चा उस चीजों को छूने के बाद अपनी नाक, मुंह या आंखों को छूता है, तो बच्चे संक्रमित हो सकते हैं.

इसके अलावा बच्चे खिलौने जैसी कई चीजें भी अपने मुंह में डाल लेते हैं जो कीटाणुओं का एक स्रोत भी हो सकती हैं.

वहीं शिशुओं के इम्यून सिस्टम के निर्माण में समय लगता है. शुरुआती वर्षों में, उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली सैकड़ों वायरस और कीटाणुओं से लड़ने के लिए पर्याप्त मजबूत नहीं होती.

यही कारण है कि बच्चे आसानी से आम सर्दी के शिकार हो जाते हैं.

शिशुओं में आम सर्दी के लक्षण

शिशु में आम सर्दी के लक्षण किसी संक्रमित वस्तु को छूने या संक्रमित शख्स के संपर्क में आने के 1 से 3 दिन में नजर आ सकते हैं. आम सर्दी के ये लक्षण लगभग एक या दो हफ्ते तक रहते हैं. अलग-अलग शिशुओं के लिए आम सर्दी के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं. जैसे:

  • बहती नाक
  • छींक आना
  • बुखार
  • भूख में कमी
  • गले में खराश
  • निगलने में कठिनाई
  • हल्की खांसी
  • जकड़न
  • सोने में कठिनाई
  • सिरदर्द
  • ठंड लगना
  • थकान

बच्चे को सर्दी होने पर कैसे करें देखभाल

सामान्य सर्दी का कोई खास इलाज नहीं है. ये आमतौर पर कुछ दिनों में अपने आप ठीक हो जाता है. बच्चे को लक्षण से आराम देने के लिए कुछ उपाय किए जा सकते हैं और डॉक्टर भी लक्षणों से राहत देने के लिए ही कुछ दवा दे सकते हैं.

  • बच्चे की डिहाइड्रेशन को कम करने में मदद करने के लिए उसे नियमित रूप से पानी, गर्म सूप, गर्म दूध दें.
  • सुनिश्चित करें कि शिशु को उचित आराम मिल रहा है.
  • बच्चे की नाक के नीचे मॉइस्चराइजिंग मरहम (पेट्रोलियम जेली) लगाएं ताकि वहां लाली या दर्द से राहत मिले.
  • सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा जितना संभव हो उतना बलगम बाहर निकाल सके. यह जकड़न को कम करने में मदद करेगा और सांस लेने में जो कठिनाई होती है, उसे भी रोकेगा.

(मनीषा चोपड़ा न्यूट्रिशनिस्ट, डाइटिशियन और फिटनेस एक्सपर्ट हैं.)

(ये आर्टिकल आपकी सामान्य जानकारी के लिए है. फिट यहां किसी भी बीमारी के इलाज का दावा नहीं करता है. स्वास्थ्य से जुड़ी किसी भी समस्या के लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करने की सलाह दी जाती है.)

(Subscribe to FIT on Telegram)

Published: 
Stay Up On Your Health

Subscribe To Our Daily Newsletter Now.

Join over 120,000 subscribers!