सेक्सॉल्व: ‘मैं अपने कॉलेज के एक प्रोफेसर से प्यार करती हूं’

‘मेरी उम्र 20 साल है और 47 साल के अपने प्रोफेसर को चाहती हूं’

Published
sexolve
6 min read
'मुझे कैसे पता चल सकता है कि वह लड़का जिसे मैं मुझे बहुत प्यार करती हूं, वह भी मुझसे प्यार करता है?’
i

(चेतावनी: कुछ सवाल आपको विचलित कर सकते हैं. पाठक को पढ़ने से पहले अपने विवेक का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है.)

'सेक्सॉल्व' समता के अधिकार के पैरोकार हरीश अय्यर का फिट पर सवाल-जवाब आधारित कॉलम है.

अगर आपके मन में सेक्स, सेक्स के तौर-तरीकों या रिलेशनशिप से जुड़े कोई सवाल हैं और आपको किसी तरह की सलाह की जरूरत है, किसी सवाल का जवाब चाहते हैं या फिर यूं ही चाहते हैं कि कोई आपकी बात सुन ले- तो हरीश अय्यर को लिखें, और वह आपके लिए ‘सेक्सॉल्व’ करने की कोशिश करेंगे. आप sexolve@thequint.com पर मेल करें.

पेश हैं इस हफ्ते के सवाल-जवाबः

‘मेरी उम्र 20 साल है और मैं 47 साल के प्रोफेसर से प्यार करती हूं’

डियर रेनबोमैन,

मेरी उम्र 20 साल है और मैं 47 साल के प्रोफेसर से प्यार करती हूं.

वह मेरे कॉलेज में मुझे पढ़ाते हैं और मैं उन पर फिदा हो गई हूं. मैंने उन्हें एक वाट्सएप मैसेज, जो कि एक तरह का एक लव लेटर ही था, भेजा. उन्होंने मुझे अपने केबिन में बुलाया और मुझसे कहा कि यह गलत है और वह इसे मेरे खिलाफ इस्तेमाल कर सकते हैं और मुझे कॉलेज से निकलवा सकते हैं. मैं रोने लगी. उन्होंने फिर मुझसे कहा कि वह मुझे कॉलेज से निकाल सकते हैं, लेकिन वह डीन या किसी को भी नहीं बताएंगे क्योंकि वह मेरा करियर बर्बाद नहीं करना चाहते. उन्होंने मुझे सिर्फ चेतावनी देकर छोड़ दिया.

उनकी इस रहमदिली ने मेरे मन में उनके लिए प्यार और गहरा कर दिया. मैंने लेक्चर्स में और ज्यादा समय देना शुरू कर दिया और सभी प्रोजेक्ट समय पर करना शुरू कर दिया. मुझे लगता है, उनके हिसाब से हमने अपने अतीत को पीछे छोड़ दिया और आगे बढ़ गए, लेकिन असल में मेरे मन में उनके लिए प्यार बढ़ता जा रहा था. यह और ज्यादा गहरा हो रहा था. मैंने उनसे पूछा क्या मैं जूनियर्स के प्रोजेक्ट सुधारने में मदद कर सकती हूं, उन्होंने रजामंदी दी और मुझे बताया कि वे घर पर प्रोजेक्ट को ठीक कर रहे हैं. मैंने इस काम के लिए उनके घर जाने को कहा. गंभीरता से कहूं, तो असल में उनके घर उनके साथ अकेले समय बिताने का ख्याल मुझे रोमांचित कर रहा था.

जब हम घर पहुंचे तो वहां कोई नहीं था. उन्होंने एसी ऑन किया और घर सचमुच काफी ठंडा हो गया. हमने असाइनमेंट चेक करना शुरू किया और उन्होंने मेरे कंधे को बहुत सुखद तरीके से छुआ, हालांकि, वह जल्द पीछे हट गए. मैंने आगे कदम बढ़ाते हुए उनके हाथ को छुआ.

बात आगे बढ़ती गई और हम जल्द ही सेक्स कर रहे थे. हालांकि, इसने मेरी और अधिक की चाहत बढ़ा दी थी. लेकिन यह अंतिम बार था, जब हम अंतरंग हुए. इसके बाद उन्होंने पीछे हटना शुरू कर दिया. ऐसा लगता था मानो हम इससे पहले कभी अंतरंग ही नहीं थे. यह डरावना है. मैं अब उनके लिए तड़प रही हूं.

मेरे दोस्त मुझसे कहते हैं कि उन्होंने मेरा फायदा उठाया. मुझे नहीं लगता कि उन्होंने ऐसा किया. आप क्या सोचते हैं?

मैं उन्हें वापस कैसे हासिल करूं? मैंने उनके बारे में सोचा, क्या वह भी गुनाह है? क्या मैंने कोई गुनाह किया? क्या मैंने उनसे प्यार करके इसलिए कुछ गलत किया है क्योंकि वह बड़ी उम्र के हैं?

मिस फेवरेट स्टूडेंट

डियर फेवरेट स्टूडेंट,

मुझसे इतनी अंतरंग बातें साझा करने के लिए शुक्रिया.

सबसे पहले मैं आपको बता दूं कि किसी की ख्वाहिश करने, प्यार करने, या बड़ी उम्र के किसी शख्स की तरफ आकर्षित होने में कुछ भी गलत नहीं है. समस्या तब पैदा होती है जब हम उन ख्वाहिशों को हकीकत में तब्दील करना चाहते हैं- तब उम्र, रजामंदी और वरिष्ठता की स्थिति को ध्यान में रखने के सवाल पैदा होते हैं.

हममें से कई लोग अपने टीचर्स पर फिदा होने के साथ बड़े हुए हैं और हम जानते हैं कि कभी-कभी कुछ टीचर्स भी अपने स्टूडेंट्स पर फिदा होते हैं. हालांकि, जब तक यह मन के अंदर है और शारीरिक रूप से शारीरिक स्पर्श या अभिव्यक्ति के किसी अन्य रूप में जाहिर नहीं होता है, इसे नैतिक दृष्टिकोण से गलत नहीं माना जाएगा.

सोचना गुनाह नहीं हैं, इस पर अमल करना गुनाह हो सकता है.

मैं आपके लिए इसे अलग-अलग करके समझाने की कोशिश करता हूं.

आपने उनके लिए अपने प्यार का इजहार किया. आप एक बालिग हैं, वह भी बालिग हैं. तो, यहां तक ठीक है. उन्होंने कहा कि यह गलत है और अपनी नाराजगी जाहिर की, जैसा कि आप दोनों में स्टूडेंट-टीचर का रिश्ता है- तो यह भी ठीक है. उन्होंने इसका बखेड़ा और तमाशा बनाना ठीक नहीं समझा- यह उनकी रहमदिली है. आप उन पर फिदा रहीं और आपको उनसे प्यार हो गया- यह भी ठीक है. तो, यहां तक कहानी बहुत अच्छी है.

समस्या तब शुरू होती जब आपके बीच शारीरिक नजदीकी बनी. ऐसा लग रहा है कि यह उन्हें अटपटा लगा. मैं यह नतीजा नहीं निकालना चाहूंगा कि उन्होंने प्रोफेसर के रूप में अपनी स्थिति का फायदा उठाया. मैंने आपकी मेल से यह अंदाजा लगाया कि आपकी तरफ से हमेशा सहमति थी.

हालांकि, कोई शख्स डर के ख्यालों से घिर सकता है, जब वो जानता है कि एक खास मामला उसकी छवि या उसके करियर को बर्बाद कर सकता है. हो सकता है, उस लम्हा उन्हें अच्छा लगा हो, लेकिन बाद में अपनी स्टूडेंट के साथ इतना आगे तक जाने पर शर्मिंदगी हो रही हो.

मेरा सुझाव है कि आप उनके साथ दिल खोलकर बात करें.

समय गुजरने के साथ चीजें बेहतर हो जाएंगी. अपेक्षाओं से निराशा हो सकती है. इस रिश्ते से ज्यादा उम्मीद न करें तो अच्छा होगा. तब दूसरे शख्स का जो भी रुख होगा, आप उसे स्वीकार करने की स्थिति में होंगी.

समय गुजरने के साथ चीजें बेहतर हो जाएंगी. अपेक्षाओं से निराशा हो सकती है. इस रिश्ते से ज्यादा उम्मीद न करें तो अच्छा होगा. तब दूसरे शख्स का जो भी रुख होगा, आप उसे स्वीकार करने की स्थिति में होंगी.

ढेर सारा प्यार

रेनबोमैन

अंतिम बातः समय के साथ प्यार और निखरता है.

'मेरी बेस्ट फ्रेंड ने अचानक डिजिटल डिटॉक्स ले लिया'

'वह कुछ हफ्तों तक अपने फोन या लैपटॉप से दूर रहेगी.'
'वह कुछ हफ्तों तक अपने फोन या लैपटॉप से दूर रहेगी.'
(फोटो: iStock)

डियर रेनबोमैन,

मैं 27 वर्षीय महिला हूं और मेरी बेस्ट फ्रेंड मेरी ही उम्र की है. समस्या यह है कि उसने आम जिंदगी से डिजिटल डिटॉक्स ले लिया है. इसलिए कह सकते हैं कि वह कुछ हफ्तों तक अपने फोन या लैपटॉप से दूर रहेगी. उसने मुझे ईमेल पर बता दिया कि वह यह ब्रेक ले रही है.

मैं और वो रोजाना एक दूसरे से बातचीत के आदी हैं. डिजिटल डिटॉक्स से एक दिन पहले हमारे बीच सचमुच बहुत बुरी बहस हुई थी. क्या वह मुझसे दूरी बनाने के लिए ऐसा कर रही है या यह सच में डिजिटल डिटॉक्स है?

दोस्ती की कसम

डियर दोस्ती की कसम,

मुझे लिखने के लिए शुक्रिया. किसी भी रिश्ते में, कम्युनिकेशन के रास्तों को खुला रखना जरूरी है. मुझे खुशी है कि आपकी फ्रेंड ने आपको ईमेल कर बताया कि वह डिजिटल ब्रेक ले रही है.

कोई भी उसका मन नहीं पढ़ सकता है और यह पता नहीं लगा सकता कि क्या यह आपके साथ बहस का बदला था, या कुछ और. हालांकि, मैं आपको बता सकता हूं कि करीबी दोस्त बहस करते हैं. करीबी दोस्त कभी-कभी एक-दूसरे से नाराज भी हो जाते हैं. जो लोग करीब होते हैं, वे असहज सवाल पूछने और असुविधाजनक मुद्दों पर बातचीत करने की हिम्मत करते हैं.

कठोर ईमानदारी नजदीकी रिश्तों की पहचान है.

हम हालांकि डिजिटल ब्रेक की वजह का अंदाजा नहीं लगा सकते हैं, कोई भी आसानी से समझ सकता है कि इस लॉकडाउन ने हम सभी के दिमाग पर असर किया है. अगर मुझे भी मौका मिले तो मैं एक महीने के लिए इंटरनेट से दूर रहना पसंद करूंगा.

उम्मीद रखें कि चीजें वक्त बीतने के साथ बेहतर हो जाएंगी. अपनी दोस्त को नए जोश और जीवंतता के साथ वापस आने का मौका और आजादी दें.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन

अंतिम बातः सच्ची दोस्ती समय की कसौटी पर खरी उतरती है.

‘मैं डरा हुआ हूं’

'यह सोचना भी तकलीफदेह है कि हमारे रिश्ते में दरार आ सकती है.'
'यह सोचना भी तकलीफदेह है कि हमारे रिश्ते में दरार आ सकती है.'
(फोटो: iStock)

डियर रेनबोमैन,

मैं 28 साल का गे पुरुष हूं, मेरा एक ब्वॉयफ्रेंड है, जो मेरी ही उम्र का है. हम 2 साल से रिलेशनशिप में हैं. मेरे प्रेमी का वह अंग बड़ा है और इसलिए मुझे सेक्स से डर लगता है. यह सोचना भी तकलीफदेह है कि मेरे किसी एतराज के कारण हमारे रिश्ते में दरार आ सकती है. मैं क्या करूं?

आशंकित लड़का

डियर आशंकित लड़का,

मैं आपका डर समझ सकता हूं.

कभी-कभी हम अपने शरीर के बारे में खुलने में कुछ समय लेते हैं. सच्चा प्यार हमेशा सब्र रखता है.

सेक्स के मुद्दे पर मेरा कहना है कि अपनी ख्वाहिश पर करें, न कि अपने पार्टनर की ख्वाहिशों को पूरा करने के लिए.

लुब्रीकेशन का इस्तेमाल करें. कृपया तकलीफ होने पर अपने पार्टनर को बताने में संकोच न करें कि यह तकलीफदेह है.

सेक्स आपकी रिलेशनशिप का सिर्फ एक पहलू है. अगर पेनेट्रेटिव सेक्स में समय लगता है और बहुत अधिक प्रयास करना पड़ता है तो ढेर सारे फोरप्ले और दूसरे तरीकों को आजमाएं.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन

(हरीश अय्यर एलजीबीटी कम्युनिटी, महिलाओं, बच्चों और पशुओं के अधिकारों के लिए काम करने वाले समान अधिकार एक्टिविस्ट हैं.)

(Subscribe to FIT on Telegram)

Stay Up On Your Health

Subscribe To Our Daily Newsletter Now.

Join over 120,000 subscribers!